Skip to main content

Kya Aapne Kabhi Socha hai Jalebi khane Ke benifits

जलेबी को मिष्ठान  समझने की गलती  मत करना, यह कई बिमारियों की दवा हो सकती है 


ह लेख उन लोगों के लिए है जो जलेबी को मिठाई समझते हैं  जलेबी एक ऐसी चीज है जिसके बारे में सुनते ही  मुँह में पानी आ जाता है| भारत में जब भी जलेबी का जिक़्र होता है  तब लोगों के पेट ओर मुँह उसको खाने के लिए बेचैन हो जाते हैं | जलेबी का सेवन भारत में कई प्रकार के नाश्तों  में किया जा सकता है कभी कचोरी-जलेबी, कभी दूध-जलेबी , कभी जलेबी-पोहा, कभी खीर जलेबी, तो कभी रबड़ी -जलेबी |
https://hamaradigitalbharat.blogspot.com/

परन्तु  बहुत ही काम लोग यह जानते हैं  की जलेबी हमारे लिए कितनी फायदेमंद होती है | परन्तु बहुत से डॉक्टर्स स्वयं इस बात को जानते हैं की इस का सेवन बहुत सी बिमारियों का ट्रीटमेन्ट है | जिन लोगों को स्किन के रूखेपन की प्रॉब्लम है या फिर एड़ियां फटने की प्रॉब्लम होती है तो इस जलेबी को खाने से त्वचा अच्छी होती है तथा एड़ियां फटने की प्रॉब्लम हल हो जाती हैँ | 

https://hamaradigitalbharat.blogspot.com/

अगर  किसी को पीलिया की प्रॉब्लम है तो उस ब्यक्ति को सवेरे तथा शाम को एक खाली पेट दो जलेबी कहानी चाहिए इस तरह पांच से छः दिनों में उसकी यह प्रॉब्लम ठीक हो सकती है | अगर कोई माइग्रेन की प्रॉब्लम से ग्रस्त है तो रोज़ सवेरे आधा लीटर दूध के साथ २-३ जलेबी खानी चाहिए, ऐसा  उसकी यह समस्या अतिशीघ्र ठीक हो जाएगी 

अगर किसी व्यक्ति  की  बार बार शुगर कम हो जाती है तो उसके लिए जलेबी एक रामबाण ओषधि है | उस व्यक्ति रोज सुबह सुबह  दूध के साथ २ जलेबी कहानी चाइये | उससे शुगर सारा दिन कण्ट्रोल में रहती है | अगर किसी व्यक्ति को डिप्रेेेशन की समस्या सत्ता रही है तथा वह हमेशा चिंता  में ही रहता हो तो उसको भी अपने  जलेबी  सम्मिलित करना चाहिए https://hamaradigitalbharat.blogspot.com/

https://hamaradigitalbharat.blogspot.com/2019/07/blog-post.html


अगर किसी व्यक्ति का शरीर कमजोर है या वजन कम है तब भी बुजुर्ग लोग दूध के साथ जलेबी खाने की सलाह देते हैं, इस से शरीर ताकतवर बनता है तथा वजन बढ़ता है | इसिलिये  दोस्तों अगर आप भी जलेबी से दूर भागते हैं तो इसके गुणों को जरूर जानिए तथा इसका सेवन कीजिए | परन्तु अगर आपको ऐसी  कोई ऐसी प्रॉब्लम है जिसके कारण डॉक्टर ने आपको अधिक मीठा खाने के लिए मना किया है तब इसका सेवन कम करें या फिर  न करें | 
हम ऐसे ही रोचक एवं ज्ञानवर्धक जानकारियां आप के साथ शेयर करते रहेंगे| कृप्या  कमेंट बॉक्स में अपना विचार इस लेख के बारे में जरूर रखें |  

Comments

Popular posts from this blog

History of Education System in India

भारत में शिक्षा का इतिहास आरम्भिक समय में लगभग आठवीं शताब्दी ईसा पूर्व से ही भारत में उच्च शिक्षा का सबसे पहला केंद्र तक्षशिला(आधुनिक पकिस्तान में स्थित) माना जाता है, और यह तर्क का विषय है कि क्या इसे मॉडर्न अर्थों में विश्वविद्यालय माना जा सकता है? क्योंकि यहां पर रहने वाले अध्यापक आधिकारिक नहीं हो सकते थे। विशेष कॉलेजों की सदस्यता एवं बाद में नालंदा विश्वविद्यालय के मुकाबले तक्षशिला में उद्देश्य से निर्मित व्याख्यान हॉल और आवासीय क्वार्टरों का अस्तित्व नहीं था। नालंदा विश्वविद्यालय के आधुनिक अर्थों में दुनिया में शिक्षा का सबसे पुराना विश्वविद्यालय-तंत्र था तथा वहाँ पर सभी विषयों को पाली भाषा में पढ़ाया जाता था। इसके बाद बौद्ध मठों एवं कुछ धर्मनिरपेक्ष संस्थाओं का विकास हुआ जिन्होंने बाद में व्यावहारिक शिक्षा प्रदान करने पर बल दिया| 500 BCE से 400 CE के बीच के समय में कई शहरी शिक्षा केंद्र तेजी से दिखाई देने लगे। शिक्षा के बहुत से महत्वपूर्ण शहरी केंद्र नालंदा (बिहार) और नागपुर में मनसा थे। इन संस्थानों ने व्यवस्थित रूप से ज्ञान प्रदान किया और कई विदेशी छात्रों को आकर्षित किया जैसे …

What is Blood pressure

 What is Blood pressure
Blood pressure is that pressure of blood on the walls of arteries as your heart pumps it around your body. It is an important a part of our heart and circulation function.

Your vital sign naturally goes up and down all the time, adjusting to your heart’s desires betting on what you're doing. High vital sign is once your blood pressure is persistently above traditional. A vital sign reading beneath 120/80mmHg is taken into account best. Readings over 120/80mmHg and up to 139/89mmHg are within the traditional to high normal vary. Blood pressure that’s high over a protracted time is one in all the most risk factors for heart condition. As you become older, the possibilities of getting persistently high vital sign will increase. It’s vital to induce your vital sign checked often, and if it’s persistently high it has to be controlled. Uncontrolled high vital sign will cause a heart failure or stroke. it should conjointly have an effect on your kidneys. The medical…

What is a Healthy lifestyle Exactly?

By being healthiest you can possibly be means eating a variety of healthy-foods, being physically active and understanding the nutrients you need to protect your bones, immune system, physical health and mental health.  What about getting a good night's sleep, knowing how much alcohol puts you in the risky category and the benefits of stopping smoking even after 24 hours. A healthy eating plan, knowing which diets work, how active you should be for your age and what you can do to manage your weight are also very important.

Five habits of healthy life style:-




1) Physical activity and exercise can have immediate and long-term health benefits. A healthy physical activity level is defined as minimum 30 minutes of daily moderate to vigorous activity, Walking, Jogging or you can play some games like football. Physical activity and exercise can have immediate and long-term health benefits.Physical activity or exercise can improve your health and reduce the risk of developing several diseas…